शाहपुर : कांग्रेसी विधायक ब्रम्हा भलावी भूले 20 मिनिट तक अपने पार्टी को, 20 मिनिट तक थामा रहा बीजीपी का दामन , नाटकीय तौर पर आरोप लगाकर छुपाते फिर रहे है अपनी गलती: पढ़े क्या है सवाल जिससे भागे विधायक ।

घोड़ाडोंगरी : ( शाहपुर) कल बड़े नाटक के साथ कांग्रेस के विधायक ब्रम्हा भलावी और बीजेपी में सवाल और दोषारोपण किया जा रहा हैं । जिनके बीच इन सब नाटक में बहोत से सवाल निकल कर आ रहे है जहाँ पर दोनों दलो के लोगो ने चुप्पी साध ली हैं । क्या है सवाल :-–------ ----------- इन सब मे यह सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं कि , 1 . जैसा कि वीडियो में दिखाई दे रहा हैं , की स्वंय कांग्रेस विधयक ब्रम्हा भलावी कैची लेकर भाजपा कार्यलय का उद्घाटन कर रहे है , क्या यह करते समय उनको यह सब नही नजर आया । . 2. फिता काटने के बाद कार्यालय में बैठने और फिर 20 मिनीट के गहरे मंथन में विधायक को यह ज्ञात हुआ कि वह कांग्रेस का नही बीजीपी कार्यालय हैं । 3. क्या कारण था कि इतनी जल्दी में बिना लोकार्पण के कॉम्लेक्स में कांग्रेस और बीजीपी के कार्यालय संचालित हो रहे थे । 4. इसमे कॉम्लेक्स में लोकार्पण में यह क्यों नही बताया गया कि इसमें भाजापा कार्यलय का भी उद्धाटन हैं ,इसमे प्रसासन की भी चूक हुई हैं । 5. क्या कारण था कि बिना लोकार्पण के वहां पर किसी कार्यालय का संचालन किया जा रहा था। 6. कांग्रेस के विधायक अपनी गलती को छुपाने के लिये अपनी गलती का पिटारा दुसरो पर क्यों मड रहे है । इस तरह से अनेक सवाल जो कांग्रेस के तरफ से बाते सामने आ रही हैं कि कांग्रेसी नेताओ को खरीदने की कोशिश की जा रही हैं , पर इस तरह से यह गलती विधायक को कहि महंगी न पड़ जाए । .. @ क्या कहते है लोकल कांग्रेसी युवा नेता : यकीनन यह अचंबित करने वाली बात है कि धोके से विधायक भलावी को लेजाकर फिता कटवाना और वहां पर बीजीपी कार्यलय का होना बीजीपी के लोगो की चाल हैं । स्थानित और समामाजिक तौर पर विधायक ब्रम्हा भलावी लोकार्पण कार्यकम में गए थे । इस तरह की जानकारी निमंत्रण पत्र में होना चाइये था, कि या यह जानकारी देना जनपद कार्यलय का दायित्व हैं कि कार्यक्रम की क्या रूप रेखा हैं , कहि न कही यह वर्तमान शिवराज की धोके की सरकार की चाल हैं । ( प्रदीप उइके , स्थानीय कांगेसी युवा नेता ) इस पर जब हमने विधायक ब्रम्हा भलावी से फोन पर बात करने की कोशिश तो उनका मोबाइल हमेशा की तरह बंद मिला। साथ ही स्थानीय वरिष्ठ कांग्रेसी नेता नरेंद्र मिश्रा ( ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष) से बात करने की कोशिश की उनका भी मोबाइल बन्द आ रहा था। इससे यह साफ होता हैं कि कांग्रेसी अपनी गलती को छुपाने के लिये बे फिजूल में धरना और फिर मोबाइल बन्द रख कर छुपने का प्रयास कर रहे है । क्या है पूरा मामला ::------ -------- बैतूल के एक कांग्रेसी विधायक के भाजपा में शामिल होने की लंबे समय से चल रही चर्चाओं के बीच आज उसी कांग्रेसी विधायक से भाजपाइयों ने अपने मंडल कार्यालय का फीता कटवाकर उदघाटन करवा डाला। कांग्रेसी विधायक कार्यक्रम में भी मौजूद रहे लेकिन जब कांग्रेसियो को इस गलती का अहसास हुआ तो बवाल मच गया। इस बीच कांग्रेस विधायकने खुलासा किया है कि उन्हें भाजपा में शामिल होने 50 करोड़ का था ऑफर।लेकिन वे एक बाप की औलाद है। घटना शाहपुर जनपद परिसर की है। जहां आज मुंख्यमंत्री मदद योजना के तहत भाजपा सांसद डीडी उइके और कांग्रेस विधायक ब्रह्मा भलावी को बर्तन और सामग्री वितरण करना था। इसी कार्यक्रम के बाद जनपद पंचायत की 18 दुकानों का लोकार्पण होना था। इस लोकार्पण के बाद वहां मौजूद भाजपा सांसद और कांग्रेस विधायक से एक  शटर में।लगा फ़ीता कटवा दिया गया। इसी जगह अंदर भाजपा मंडल शाहपुर के बैनर पोस्टर लगे हुए थे। यहां फीता काटने के बाद कांग्रेस विधायक करीब 20 मिनट इस उद्घाटन कार्यक्रम में भी शामिल रहे। लेकिन जब उन्हें जैसे ही इस गलती का अहसास हुआ उन्होंने कार्यक्रम से रवानगी कर ली। इस बीच वहां मौजूद कांग्रेस विधायक समर्थक और ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष नरेंद्र मिश्रा की भाजपा नेताओं से  तू तू मैं मैं हो गयी। कांग्रेसी नेताओ ने मौके पर ही भाजपा नेताओ को खरी खरी सुनाते हुए कहाकि अगर वे सच बता देते तो वे एमएलए को वहां जाने नही देते।  इस बीच खुद कांग्रेस विधायक बृह्मा भलावी ने कहा कि वे काम्प्लेक्स की ओपनिंग में गये थे। वहां उन्हें धोखे से ले जाया गया। उन्हें पहले भी भाजपा में शामिल होने 50 करोड़ रुपये का ऑफर हो चुका है।तब उन्होंने कहा था कि एक अबभी दोगे तो नही आऊंगा। मैं एक बाप का हु।  इस मामले के सामने आने के बाद यहां कांग्रेसियो में हड़कम्प मच गया है तो भाजपाई इस पर चटखारे ले रहेहै।