बिग ब्रेकिंग : पुलिस की नाक के नीचे स्कूल के दरवाजे और खिड़की उड़ा ले गए चोर नही है थाना कोतवाल को ख़बर ।

बिग ब्रेकिंग : पुलिस की नाक के नीचे स्कूल के दरवाजे और खिड़की उड़ा ले गए चोर नही है थाना कोतवाल को ख़बर ।
बिग ब्रेकिंग : पुलिस की नाक के नीचे स्कूल के दरवाजे और खिड़की उड़ा ले गए चोर नही है थाना कोतवाल को ख़बर ।
बिग ब्रेकिंग : पुलिस की नाक के नीचे स्कूल के दरवाजे और खिड़की उड़ा ले गए चोर नही है थाना कोतवाल को ख़बर ।
बिग ब्रेकिंग : पुलिस की नाक के नीचे स्कूल के दरवाजे और खिड़की उड़ा ले गए चोर नही है थाना कोतवाल को ख़बर ।
बिग ब्रेकिंग : पुलिस की नाक के नीचे स्कूल के दरवाजे और खिड़की उड़ा ले गए चोर नही है थाना कोतवाल को ख़बर ।
सारणी : शिक्षा का मंदिर कहे जाने वाले स्कूल को नही बक्सा चोरों ने । जी हा सारणी में कल बीती रात सारनी के पुलिस थाने से 100 मीटर के डिस्टेंस में प्राथमिक शाला हैं , जिसको की क्षेत्र के कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा स्कूल के लोहे के दरवाज़े , खिड़कियां चुरा ले गए हैं । इस तरह से 100 मीटर के दूरी पर स्कूल के खिड़की , दरवाजो के चोरी होने से कही सवाल खड़े हो रहे है कि , क्या रात्रि गस्त सारणी क्षेत्र में नही हो रही हैं । खिड़की , दरवाजो को तोड़कर निकलने में किसी तरह की आवाज तो हुई होगी । इस तरह से पुलिस की अनदेखी और पर सवाल उठना तो लाजमी हैं । सूत्रों से मिली जानकारी पर चोरी की घटना पर जब स्कूल स्टॉफ के सदस्य द्वारा पुलिस स्टेशन जाकर इस चोरी की जानकारी दी गयी इस पर पुलिस विभाग के कर्मचारी द्वारा यह यह बोला गया कि स्कूल कोई गार्ड क्यों नही लगा लेते। इसके पहले भी इस स्कूल में इस तरह की चोरी हुई थी जिस पर कोई पुलिस कार्यवाही नही की गई जिससे कि चोरों का हौसला और बढ़ गया। क्या इस तरह से पुलिस के बोलने और इस तरह से क्या एक शासकीय स्कूल का कर्मचारी अपने स्कूल के लिये प्राइवेट गार्ड लगा दे । इस पर जब हमने टीआई सारणी से बात कि तो उन्होंने यह बोलकर पल्ला झाड़ लिया कि अभी मैं कोरन्टीन क्षेत्र में हूँ , मुझे इसकी कोई जानकारी नही हैं । इस तरह से 100 मीटर पर चोरी कितनी सही हैं समझ नही आता । अब देखने वाली बात यह हैं कि इस पर पुलिस के आला अधिकारी क्या कार्यवाही करते है ।