इंदिरा गांधी और कमलनाथ को भूले कांग्रेसी?

इंदिरा गांधी और कमलनाथ को भूले कांग्रेसी?

इंदिरा गांधी और कमलनाथ को भूले कांग्रेसी?

आठनेर (प्रकाश खातरकर) चीख चीख कर भारत की आयरन लेडी और प्रियदर्शनी के रूप में दुनिया मे अपनी सादगी और धाक को मजबूती देने वाली इस देश की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नाम पर वोट मांगने वाले कांग्रेसीयो ने कोई आयोजन नही किया।कांग्रेसीयो के लिए शर्म की बात तो यह भी है की अनेक पदाधिकारी इस बात से भी अनजान रहे की आज इंदिरा गांधी की जयंती थी।यही नही कल 18 नवम्बर को सूबे के मुखीया कमलनाथ का जन्मदिन था जिले के अधीकाँश जगह पर कांगेसीयो ने अस्पताल में जाकर मरीजो को फल वितरित कर सादगी से मुख्यमंत्री का जन्मदिवस मनाया।मगर आठनेर में कोई आयोजन नही हुआ।हैरत इस बात की है की 15 वर्षो बाद सत्ता में लौटी कांग्रेस के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जैसे ही शपथ ली वैसे ही आठनेर तहसील के पद लोलुप कांग्रेसीयो ने कांग्रेस विधायक निलय डागा बैतूल, भैसदेही विधायक धरमू सिंग और कुछ ने तो कमलनाथ के विश्वस्त मंन्त्री सुखदेव पांसे का सहारा लेकर अनेक पदों पर काबिज होकर प्रशासन पर अपनी धाक जमाने मे कामयाब लग रहे परन्तु जीते जी उनके मुख्यमंत्री कमलनाथ तक का जन्मदिन ऐसे पदाधिकारी सामारोह पूर्वक भले न मना पाए परन्तु सादगी पूर्ण रूप से एक दर्जन केले तक अस्पताल के मरीजो को वितरित करने में कौनसी शर्म महसूस हुई यह कांग्रेस पार्टी का अंदरूनी मामला है।परन्तु सार्वजनिक रूप से कांग्रेसीयो की खूब थू थू हो रही है की कांग्रेस के लोग जब इंदिरा गांधी जैसी विश्वस्तरीय हस्ती और उनके मुख्यमंत्री को भूल सकते है तो आम आदमी की उनके सामने क्या औकात है?