रामपुर भतोड़ी प्रोजेक्ट के जंगलों पर सागौन माफियाओं का राज

रामपुर भतोड़ी प्रोजेक्ट के जंगलों पर सागौन माफियाओं का राज
रामपुर भतोड़ी प्रोजेक्ट के जंगलों पर सागौन माफियाओं का राज

रामपुर भतोड़ी प्रोजेक्ट के जंगलों पर सागौन माफियाओं का राज, कीमती जंगलों को बचानों मे नाकाम हो रहा है वन विकास निगम

चिचोली :- मध्यप्रदेश राज्य वन विकास निगम के तहत आने वाला बैतुल जिले के रामपुर भतोड़ी प्रोजेक्ट के जंगलो मे वन माफियाओ का खुला राज कायम होने से जंगलो जंगलों के हालात बद से बदत्तरर बने हुए हैं ! ऐसा नहीं है कि, बैतुल वन विकास निगम परियोजना मंडल के रामपुर भतोड़ी प्रोजेक्ट के जंगलों में सागौन की जा रही अवैध कटाई की जानकारी जिले के रामपुर भतोड़ी के बड़े अफसरो को नहीं है ! जंगलों के हालात की जानकारी होने के बाद भी जिम्मेदार सब कुछ जानकर भी अनजान बने हुए है ! प्रोजेक्ट से जुड़े अफसर वन संम्पदा को बचाने के लिए कितना प्रयास कर रहे है ! इस आम नाजारा जंगलों के हालात और दिन दहाड़े वन माफियाओ की वन विकास निगम के जंगलो के कंम्पाटमेट मे चल रही कुल्हाड़ीयो की आवाज को सुनकर लगाया जा सकता है ! जंगलों पर दिन प्रतिदिन सागौन माफियाओं का शिकंजा बढ़ता जा रहा है , जंगलों में हालात यह है कि जिस तरफ भी नजर घुमा के देख लो सागौन के कीमती वृक्षो की अधाधुध कटाई नजर आती है ! माफियाओं के द्वारा जंगल से सागौन को काटकर रोजाना परिवहन किया जा रहा है । जंगलों में हर तरफ सागौन के कटे ठूठ वन संम्पदा की बर्रबादी के साक्ष्य बनकर रह गये है । ग्रामीणो के मुताबिक राज्य वन विकास निगम के तहत आने वाले रामपुर भतोड़ी परियोजना मंडल बैतुल के चूना हजूरी प्रथम एवं चूना हजूरी द्वितीय रेंज में रोजाना ही जंगलों में वन माफिया सागौन के वृक्षो को धराशाई करने में लगे हैं ! लेकिन इसके बावजूद जंगल की सुरक्षा में तैनात वन अमला ना तो जंगल में जा जंगल में जा रहा है और ना ही जंगल के हालात को देख पा रहा है ! जंगलों की सुरक्षा के लिए नियुक्त डिप्टी रेंजर मुख्यालय पर रहने के बजाय बैतूल में अपना मुख्यालय बनाकर बैठे हुए हैं! इन दोनों रेंज में रेंज अफसर भी यदा-कदा ही कभी-कभी पहुंचते हैं लेकिन वह भी जंगल के कंपार्टमेंट की ओर देखना उचित नहीं समझते ! चूना हजूरी रेंज के 1396 कंपार्टमेंट से लगाकर 1399, 14O4, 1405 ,1406 1407 मे बड़े स्तर पर सागौन माफिया माफियाओ द्वारा सागौन के बेशकीमती वृक्षों को धरा शाही करने का क्रम अनवरत जारी है ! लेकिन इस मामले में अभी तक वन विकास निगम के अधिकारियों द्वारा ना तो कोई कार्यवाई की जा रही है ! और ना ही वन संपदा को बचाने की का कोई प्रयास , जिससे वन माफियाओं के हौसले बुलंद है और वह दिन प्रतिदिन वन संपदा को नुकसान पहुंचाने में लगे हुए हैं !