चिचोली : पाठाखेड़ा सेक्टर में पहली बार हुआ एनसीडी कैंप

चिचोली : पाठाखेड़ा सेक्टर में पहली बार हुआ एनसीडी कैंप
चिचोली : पाठाखेड़ा सेक्टर में पहली बार हुआ एनसीडी कैंप
चिचोली : पाठाखेड़ा सेक्टर में पहली बार हुआ एनसीडी कैंप
चिचोली :( पाठाखेड़ा )सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा एनसीडी गैर संचारी रोगों का कैंप आयोजन किया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी अंकिता वरवडे़ से बात करने पर बताया गया उन्होंने बताया गया कि हमारे भारत देश में लगभग 61% लोगों की मृत्यु एनसीडी रोगों के कारण हो जाती है, और लगभग 87प्रतिशत लोग गैर संचारी रोगों से पीड़ित रहते हैं। आज आज की भागदौड़ की जिंदगी मे बहुत से लोग मानसिक रूप से प्रताड़ित होकर एनसीडी रोगों का शिकार होते हैं और साथ ही साथ आज की बिगड़ी हुई दिनचर्या भी इसका एक मुख्य कारण है। स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा बताया गया कि सीएमएचओ डॉ प्रदीप धाकड़ द्वारा दिए हुए निर्देश अनुसार संपूर्ण बैतूल जिले में एनसीडी रोगों की पहचान तथा तथा उपचार का कार्यक्रम सभी सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा जोरों शोरों से किया जा रहा है। पाथाखेड़ा सेक्टर के अंतर्गत आज ग्राम इमली थाना में लगभग डेढ़ सौ लोगों की स्क्रीनिंग की गई जिसमें से 62 गैर संचारी रोग की रोगी सामने निकल कर आए। जिनका त्वरित उपचार शुरू किया गया और अपनी दिनचर्या खानपान संबंधी सुधार हेतु सलाह दी गई तथा कुछ घरेलु उपाय भी सुझाए गए। साथ ही सर्वाइकल कैंसर सस्पेक्टेड रोगियों को जिला अस्पताल रेफर किया गया, TB सस्पेक्टेड रोगी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिचोली रेफर किया गया । कैंप में मुख्य रूप से BEE अनिल कटारे ANM झनकी कुमरे,आशा कार्यकर्ता काशी नागले उपस्थित रहे।